Advertisements

मुख्यमंत्री द्वारा मंडी शहर में पहली बार ब्यास आरती का शुभारंभ

न्यूज 81 ब्यूरो। मंडी
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने गत सांय मंडी शहर के लोगों के साथ पंचवक्त्रा मंदिर के निकट ब्यास नदी के तट पर ब्यास आरती का शुभारंभ किया। ‘गंगा आरती’ की तर्ज पर आरंभ ‘ब्यास आरती’ के समय लोगों में भक्तिभाव देखने लायक था तथा एक आलौकिक आध्यात्मिक दृश्य देखकर सभी अभिभूत थे। उत्तर प्रदेश के काशी के पुजारियों के साथ हजारों लोगों ने ब्यास नदी के तट पर एकत्रित होकर अपने हाथों में दीये लेकर मंत्रोचारण किया तथा लोगों ने, आशा और कामनाओं के प्रतीक जगमगाते मिट्टी के दीयों को ब्यास नदी में प्रवाहित किया।
इसके उपरांत, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इंदिरा मार्केट मंडी में छोटी काशी महोत्सव की प्रथम सांस्कृतिक संध्या की अध्यक्षता की। इस अवसर पर मंडी के सेरी मंच में मंत्रमुग्ध करने वाली लाईटों व साउंड शो का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक अनिल शर्मा, विनोद कुमार, राकेश जंवाल, जवाहर ठाकुर, इंद्र सिंह गांधी, अध्यक्ष मिल्डफैड निहाल चंद शर्मा, अध्यक्ष वक्फ बोर्ड राजबली, महासचिव बाल कल्याण परिषद पायल वैद्य, अध्यक्ष नगर निगम मंडी सुमन ठाकुर, अतिरिक्त मुख्य सचिव भाषा, कला एवं संस्कृति राम सुभग सिंह, उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा व अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।।
…………………………………….

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

रोजगार मेलाः चयनित युवाओं को 8 हजार से 70 हजार मिलेगा वेतन

-सीमा कॉलेज में 10 अक्तूबर को होगा रोजगार मेला
न्यूज 81 ब्यूरो। शिमला
सीमा कॉलेज में 10 अक्तूबर को रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा हैं। इस रोजगार मेले में उत्तर भारत की दस बड़ी-बड़ी कंपनियां भाग लेंगी। बैंकिंग सेक्टर, गैर बैकिंग सेक्टर व आईटी सेक्टर में 12वीं, आईटीआई, पॉलिटेक्नीक डिप्लोमा, एमबीए को रोजगार मिलेगा। योग्य युवा को अपना रिज्यूम, योग्यता प्रमाण पत्र व डिग्रियां एवं आधार कार्ड साथ लाना अनिवार्य होगा।यहां से चयनित अभ्यर्थियों को 8 हजार रुपए से 70 हजार रुपए तक प्रति माह वेतन मिलेगा। कॉलेज प्राचार्य डॉ. बृजेश सिंह ने बताया कि रोजगार मेले के आयोजन का असली मकसद यह है कि क्षेत्र में ग्रामीण एवं दूरदराज के युवाओं को रोजगार के अवसर मिल सकें। उन्होंने बताया कि नकदीकी कॉलेज, स्कूल व औद्योगिक संस्थान व बहुतकनीकि कॉलेज एव फार्मेसी कॉलेज से शिक्षा ग्रहण कर चुकें अभ्यर्थियों के लिए रोजगार के अवसर घरदार पर ही प्रदान किए जा सकते हैं।
………………………………………

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

मुख्य सचिव ने बेसहारा पशुओं को पुनस्र्थापित करने के लिए समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की

न्यूज 81 ब्यूरो। शिमला
बेसहारा पशुओं की समस्या का निपटारा करने के लिए मुख्य सचिव डाॅ. श्रीकांत बाल्दी की अध्यक्षता में पशुपालन विभाग द्वारा आज यहां एक बैठक का आयोजन किया गया। डाॅ. बाल्दी ने विभिन्न जिलों के उपायुक्तों के साथ वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से बेसहारा पशुओं को पुनस्र्थापित करने के लिए किए जा रहे कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। मुख्य सचिव कहा कि बेसहारा पशुओं के लिए गौ अभयारण्य स्थापित करना एक वैकल्पिक समाधान है अपितु लोगों को अभयारण्य में रहने वाली दूध न देने वाली गायों को पालने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। उन्होंने विभाग को लोगों को दूध न देने वाली गायों को पालने के लिए प्रोत्साहित करने की संभावनाओं को तलाशने के निर्देश दिए। उन्होंने विभिन्न जिलों के उपायुक्तों से अपने जिला में ऐसी पंचायत को चिन्हित करने के निर्देश दिए जिसे बेसहारा पशु मुक्त पंचायत घोषित कर आदर्श पंचायत बनाया जा सके। बैठक में डाॅ. बाल्दी ने पशु पालन विभाग से राज्य में गौ अभयारण्य को चलाने के लिए सहायता प्रदान करने हेतु प्रस्तावित योजना तथा दिशा निर्देशों को मंत्रिमंडल की बैठक में लाने के निर्देश दिए। उन्होंने विभाग को राज्य में हिमाचल प्रदेश गौ सेवा आयोग को शीघ्र क्रियान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने मंत्रिमंडल बैठक में स्मार्ट गौशाला के प्रस्ताव को भी प्रस्तुत करने को कहा। विभिन्न जिलों के उपायुक्तों ने मुख्य सचिव को उनके जिलों में गौ अभयारण्य निर्माण की प्रगति सम्बन्धित जानकारी दी। बैठक में यह जानकारी दी गई की वर्ष 2017 से अब तक राज्य में हिमाचल प्रदेश पुलिस अधिनियम तथा पशुओं के प्रति क्रूरता रोकथाम अधिनियम के तहत लगभग 400 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। डाॅ. बाल्दी ने कहा कि गौ अभयारण्य को निर्धारित समय में पूर्ण और क्रियाशील किया जाए। उन्होंने कहा कि गौ अभयारण्य राज्य सरकार की प्राथमिकता है और इसके सुचारू कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभाग को एक टाॅस्क फोर्स बनाने के निर्देश दिए जिसमें स्थानीय कर्मचारियों, पंचायत प्रधान, स्थानीय समुदाय के सदस्यों को शामिल कर बेसहारा पशुओं को पकड़ कर गौ अभयारण्य में पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि गौ अभयारण्य तथा गौ सदनों में रहने वाले पशुओं को टैग कर केयर टेकर द्वारा लाईवस्टाॅक रिजीस्टर में दर्ज कर इसका रिकाॅर्ड रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि गौ अभयारण्य को चलाने के लिए मंदिर ट्रस्ट या गैर सरकारी संस्था को नियुक्त किया जाए। अतिरिक्त मुख्य सचिव पशु पालन संजय गुप्ता, प्रधान मुख्य वन संरक्षक अजय कुमार, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज के निदेशक ललित जैन, पुलिस अधीक्षक कानून एवं व्यवस्था डाॅ. कुशाल शर्मा तथा पशु पालन विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस बैठक पर उपस्थित थे।
…………………………………….

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

प्रदेश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संजो कर रखने में अहम भूमिका निभाते है मेले और त्यौहारः मुख्यमंत्री

-मंडी में छोटी काशी महोत्सव का आगाज
-भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा प्रकाशित दो पुस्तकों का विमोचन
न्यूज 81 ब्यूरो । मंडी
मेले तथा त्यौहार भावी पीढ़ी के लिए प्रदेश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हंै तथा लोगों में अपने देवी-देवताओं के प्रति धार्मिक आस्था की भावना भी उजागर करते हैं। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यह बात ऐतिहासिक सेरी मंच मंडी में आयोजित छोटी काशी महोत्सव की अध्यक्षता करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि मण्डी में काफी संख्या में मंदिर होने के कारण इस शहर को छोटी काशी के नाम से जाना जाता है तथा छोटी काशी महोत्सव के आयोजन से मंडी शहर की समृद्ध संस्कृति का संरक्षण व संर्वधन करने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि मण्डी का शिवरात्री उत्सव अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कर चुका है तथा सांस्कृतिक विविधता तथा विशिष्टता के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। जय राम ठाकुर ने कहा कि हमें अपनी पुरातन संस्कृति, रीति-रिवाजों व मान्यताओं को बनाए रखना है क्योंकि वही समाज फलता-फूलता है जो अपनी रीति-रिवाजों और संस्कृति को संजो कर रखता है और इसे बचा कर रखता है। उन्होंने कहा कि इस उत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम, मण्डी चित्रकला, कला और शिल्प स्टाॅल, ब्यास आरती, लेजर शो, खाद्य उत्सव इत्यादि विशेष आकर्षण शामिल हंै। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार मण्डी शहर को आकर्षक पर्यटक स्थल बनाने के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री कहा कि यह महोत्सव मंडी शहर की संस्कृति तथा परंपराओं को आगे बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगा तथा छोटी काशी के गौरव के संरक्षण में भी अहम भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर उत्साह और उमंग के साथ हजारों परम्परागत ढोल वादकों ने एक साथ तालबद्ध होकर वातावरण को संगीतमय बनाया। मुख्यमंत्री ने भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा प्रकाशित मंडी के छोटी काशी मंदिर पर आधारित ‘आज पुरानी राहों से’ और ‘हिस्ट्री आॅफ मंडी स्टेट’ पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया। उन्होंने विभिन्न विभागों, स्वयं सेवा संस्थाओं, बोर्ड तथा निगमों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का भी अवलोकन किया। उपायुक्त मंडी एवं महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष ऋग्वेद ठाकुर ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री व अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस तीन दिवसीय महोत्सव का उद्देश्य छोटी काशी मण्डी की समृद्ध सांस्कृतिक और पारम्परिक विरासत को संजोना तथा उजागर करना है। उन्होंने कहा कि गंगा आरती की तर्ज पर ब्यास आरती आयोजित की जाएगी जो पंचवक्त्र मंदिर से शुरू होगी। इस महोत्सव के पहले दिन का मुख्य आकर्षण मंडी के विभिन्न क्षेत्रों के सांस्कृतिक दल, परंपरागत लोक नृत्य तथा सिराज नाटी रही। इस अवसर पर सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक अनिल शर्मा, जवाहर ठाकुर, विनोद कुमार, रोकश जम्वाल तथा इंद्र सिंह गांधी, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राज बली, महासचिव बाल कल्याण परिषद पायल वैद्य, नगर पंचायत मंडी की अध्यक्ष सुमन ठाकुर, अतिरिक्त मुख्य सचिव भाषा, कला एवं संस्कृति राम सुभग सिंह, पुलिस अधीक्षक गुरूदेव शर्मा भी अन्य सहित उपस्थित रहे।
………………………………

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

जिला महिला व पुरुष वालीबॉल टीम का चयन कल

न्यूज 81 ब्यूरो। कुल्लू
जिला कुल्लू की पुरुष व महिला वर्ग की वालीबॉल टीम का चयन के लिए ट्रायल रविवार 6 अक्तूबर को शमशी स्थित आइटीआइ में होगा। वालीबॉल एसोसिएशन जिला कुल्लू की उपाध्यक्ष एडवोकेट वर्षा ठाकुर ने बताया कि यह ट्रायल दोपहर दो बजे से शुरू होगा। इसमें 15 साल से ऊपर के खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा। चयनित खिलाड़ियों की टीम रोहड़ू में 13 से लेकर 15 अक्टूबर तक आयोजित होने वाली 60वीं सीनियर राज्यस्तरीय वालीबॉल स्पर्धा में भाग लेगी। वर्षा ठाकुर ने बताया कि इस ट्रायल में जिलाभर के 15 साल से अधिक आयु वर्ग का कोई भी युवक व युवती भाग ले सकते हैं। जिला अध्यक्ष शिव शरण चैहान व महासचिव नवीन शर्मा ने जिला के युवक व युवतियों से इस चयन में बढ़चढ़ कर भाग लेने की अपील की है ताकि राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली वालीबॉल स्पर्धा में भाग लेकर खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाकर जिला व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें।
…………………………………….

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

प्रदेश सरकार पीडब्ल्यूडी और सीमेंट कंपनियों को बेचेगी प्लास्टिकःसरवीण

-मंडी में राज्य स्तरीय अंगीकार अभियान के शुभारंभ अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने दी जानकारी
न्यूज 81। मंडी
सिंगल यूज प्लास्टिक पर आज से प्रतिबंध लगाने के बाद सरकार ने ऐसे प्लास्टिक को 75 रूपए प्रतिकिलो की दर से खरीदने का निर्णय लिया है। जो प्लास्टिक सरकार खरीदेगी उसे लोक निर्माण विभाग और सीमेंट कंपनियों को बेचा जाएगा। इसके लिए सरकार जल्द ही सीमेंट कंपनियों के साथ एमओयू साईन करेगी। यह जानकारी शहरी विकास मंत्री सरवीन चैधरी ने बुधवार को मंडी में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित राज्य स्तरीय अंगीकार अभियान के शुभारंभ अवसर पर दी।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

-सरकार ने आज से सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल पर लगाया प्रतिबंध

गौर रहे कि वर्ष 2009 में भी राज्य सरकार ने प्लास्टिक के इस्तेमाल से सड़कों के निर्माण पर जोर दिया था, लेकिन बाद में यह योजना सिरे नहीं चढ़ पाई थी। अब सरकार फिर से प्लास्टिक का इस्तेमाल सड़क निर्माण में करने जा रही है। वहीं, सीमेंट कंपनियों को जो प्लास्टिक बेचा जाएगा उसे कंपनियां ईंधन के रूप में इस्तेमाल करेंगी। मंत्री ने कहा कि ओडीएफ में देश भर में प्रदेश को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है जिसके लिए सब बधाई के पात्र हैं। हिमाचल के खुला शौच मुक्त राज्य घोषित होने के उपरांत अब हम प्रदेश के लिए स्टार रेटिंग की दिशा में प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह हम सभी का प्रयास होना चाहिए कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में हमारे अधिक से अधिक शहर शामिल हों। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने साफ, स्वस्थ, स्वच्छ भारत का सपना देखा था। गांधी जी के इस सपने को साकार करने के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी समर्पित प्रयास कर रहे हैं।

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

लामा वांगडोर रिंपोछे की समाधि पूरी, 6 नवंबर को किया जाएगा दाह संस्कार

न्यूज 81। मंडी
देह त्यागने के बाद करीब एक सप्ताह तक समाधि में लीन रहे लामा वांगडोर रिंपोछे की समाधि अब पूरी हो गई है। समाधि पूरी होने के बाद उनकी मृत देह को ताबूत में रखकर रिवालसर के प्रसिद्ध जिगर बौद्ध मंदिर में रखा गया है। इस मंदिर में दर्जनों बौद्ध गुरु एक साथ बैठकर दिन-रात पूजा-पाठ कर रहे हैं। लामा वांगडोर रिंपोछे का दाह संस्कार 6 नवंबर को इसी मंदिर परिसर में किया जाएगा। दाह संस्कार से पहले विशाल हवन पाठ आयोजित होगा और उसी दौरान मृत देह को अग्नि के हवाले किया जाएगा। जहां पर लामा रिंपोछे का दाह संस्कार होगा उसी स्थान पर उनका स्तूपा भी बनाया जाएगा। गौर रहे कि जिगर बौद्ध मंदिर रिवालसर के प्रमुख लामा वांगडोर रिंपोछे बीती 18 सितंबर की रात को मृत्यु को प्राप्त हो गए थे, लेकिन उनका मृत शरीर एक सप्ताह तक पूरी तरह से सुरक्षित रहा। बौद्ध धर्म के अनुसार लामा रिंपोछे समाधि में चले गए थे जिसे थुक्दम कहा जाता है। एक सप्ताह तक मृत देह को उसी कमरे में रखा गया था जहां पर लामा रिंपोछे रहते थे। यहां सैकड़ों बौद्ध अनुयायियों ने उनके दर्शन किए। बीती 25 सितंबर को जब मृत देह से इस बात के संकेत मिले कि अब लामा रिंपोछे ने शरीर को छोड़ दिया है तो इसे ताबूत में डालकर मंदिर के बीच रखा गया। बताया जा रहा है कि मृत शरीर को सहेजने के लिए उसे ताबूत में नमक डालकर रखा गया है। जिगर बौद्ध मंदिर रिवालसर के सचिव थुपतिन हारा ने समाधि पूरी होने की पुष्टि करते हुए बताया कि लामा वांगडोर रिंपोछे का दाह संस्कार 6 नवंबर को मंदिर परिसर में ही किया जाएगा और उसी स्थान पर लामा का स्तूपा बनाया जाएगा। तब तक मंदिर में पूजा-पाठ का सिलसिला जारी रहेगा।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

बसें न जाने से परेशान ग्रामीणों ने किया चक्का जाम

-फोरलेन से खराब हो चुके मलोरी-बग्गी रोड़ पर बसों का आना जाना हुआ बंद
न्यूज 81। मंडी
जिला मंडी के बैहना में वाया मलोरी बग्गी जाने वाली बस के बंद हो जाने से स्थानीय ग्रामीण उग्र हो गए हैं। बुधवार को महिलाओं, स्कूली बच्चों ने जागृति महिला मंडल बैहना के साथ मिलकर जमकर हंगामा किया और करीब तीन घंटे तक चक्का जाम कर दिया। इस दौरान ग्रामीण परिवहन निगम के आरएम को मौके पर आने के लिए अड़े रहे। सूचना मिलने के बाद प्रशासन मौके पर पहुंचा।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

लोगों ने जल्द मार्ग को खोलने करने की चेतावनी दी है। गौरतलब है कि मंडी से बल्ह घाटी को जोड़ने वाली लेफ्ट बैंक गागल मार्ग की खस्ताहाल से लोग परेशान हैं। सबसे ज्यादा खराब हालत मंडी से मलोरी बैहना सड़क की है। जहां से होकर फोरलेन का निर्माण हो रहा है। जिस कारण इस रोड़ की हालत खस्ता हो चुकी है। यहां न तो निगम की बस और न ही प्राइवेट बसें आती-जाती हैं। यहां तक कि निजी वाहन भी यहां चलाना मुशिकल हो गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि इस सड़क से रोजाना स्कूली बच्चों के साथ ग्रामीणों का आना जाना है। बसें न आने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्कूल व कालेज के बच्चों को रोजाना पैदल सफर करना पड़ रहा है। इस दौरान गुस्साए लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द मार्ग को सही नहीं किया गया तो वह फोरलेन के काम को बंद करवा देंगे। वहीं, महिला मंडल की प्रधान सुमन ने बताया कि बस बंद होने से लोगों को खासी परेशानी हो रही है।

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

बरोटी में गिरा मकान महिला घायल, बछड़े की मौत

-प्रशासन ने दी पीड़ित को 10 हजार रुपए की फौरी राहत
न्यूज 81। मंडी
जिला मंडी के सुंदरनगर उपमंडल के बरोटी गांव में एक मकान गिरने से एक महिला बुरी तरह से घायल हो गई और एक गोशाला में बंधे एक बछड़े की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह बरोटी गांव में महिला रूपा देवी अपने घर में खाना बना रही थी कि दो मंजिला स्लेटपोश मकान ढह गया, जिस में महिला 42 वर्षीय रूपा देवी घायल हो गई।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

जब घटना का पता महिला के पति अनत राम और स्थानीय लोगों को चला तो उसे तुरंत मलबे से बाहर निकाला और इलाज के लिए सीएचसी डैहर पहुंचाया। जहां महिला का उपचार चल रहा है। साथ ही लोगों ने मलबे में दबे मवेशियों को बाहर निकाला, लेकिन उस समय एक बछड़े की मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना पंचायत प्रधान व राजस्व अधिकारी व पुलिस को दी गई तो उन्होंने मौके पर पहुंच जांच शुरू की। पंचायत प्रधान लेखराम भारद्वाज ने बताया की बरोटी गांव के अनंत राम पुत्र भगत राम का स्लेटनुमा मकान गिरने से एक महिला घायल और एक बछड़े की मौत हुई है। राजस्व अधिकारी व पुलिस कर्मियों ने मौके रिपोर्ट तैयार कर दी है और प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को 10 हजार की फौरी राहत राशि प्रदान की गई है। पीड़ित परिवार ने प्रशासन से मांग की है कि परिवार को उचित मुआवजा राशि प्रदान की जाए।

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

प्रदेश में चौहड़ फिजेंट की पुनस्र्थापना

न्यूज 81। शिमला
विलुप्त होते चौहड़ फिजेंट के संरक्षण व प्रजनन में प्रदेश का वन्य प्राणी प्रभाग, (वन विभाग) जुटा हुआ है, जिसके अंतर्गत विभाग की ओर से इस चैहड़ पक्षी का संरक्षण व प्रजनन चायल में खड़ियून पक्षी चिड़ियाघर में किया गया है। विलुप्त होते इस चैहड़ फिजेंट को मुख्यमंत्री द्वारा सेरी गांव में 3 अक्तूबर, 2019 छोड़ा जाना है। चौहड़ फिजेंट के पुनस्र्थापन समारोह की अध्यक्षता माननीय मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश, जय राम ठाकुर करेंगे। इस समारोह में वन, परिवहन, खेल एवं युवा सेवाएं मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर भी उपस्थित रहेंगे। यह पुनस्र्थापन समारोह शिमला के सेरी गांव में अपरान्ह 12 बजे वन्य प्राणी प्रभाग, वन विभाग, हिमाचल प्रदेश द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन) तथा प्रधान मुख्य अरण्पाल (हाॅफ) भी शामिल रहेंगे। इंटरनेशनल यूनियन फाॅर कन्जर्वेशन आॅफ नेचर (आईयूसीएन) की सूची में दर्ज चैहड़ फिजेंट एक ऐसा हिमालयी फिजेंट है, जिसका अस्तित्व संकट में है। यह अक्सर मानवीय आबादी के निकटवर्ती छोटे वृक्षों तथा घास वाले मध्यम ऊंचाई के ढलान वाले क्षेत्रों में रहते हैं। यह पक्षी भारत तथा पाकिस्तान के हिमालयी क्षेत्र तथा पूर्व में नेपाल तक छोटे-छोटे खंडित क्षेत्रों में पाए जाते हैं। क्षेत्र के खंडित होने, वनों में बार-बार आग लगने की घटनाओं, शिकार होने के कारणों से चैहड़ पक्षी अपने वास क्षेत्र में संकट में है। इस पक्षी को उत्पन्न खतरों को भांपते हुए केंद्रीय चिड़िया घर प्राधिकरण नें वर्ष 2007 में चौहड़ फिजेंट को संरक्षण प्रजनन के लिए एक प्रजाति के रुप में चिन्हित किया था, जिसका प्रमुख उद्देश्य एक स्वावलंबी तथा पर्याप्त संख्या वाली आबादी स्थापित किया जाना है ताकि इन पक्षियों की वन्य आबादी का पुनस्र्थापन किया जा सके। चौहड़ पक्षी के संरक्षण प्रजनन के लिए चायल में खड़ियून पक्षी शालाकांे एक समन्वय चिड़ियाघर के रुप में चिन्हित किया गया। संरक्षण प्रजनन का मुख्य उद्देश्य इस पक्षी की एक ऐसी आबादी तैयार करना है, जो कि पुनस्र्थापना के बाद जंगल में सफलतापूर्वक जीवित रहे। कुछ वर्षों के व्यवस्थित तथा वैज्ञानिक प्रबंधन से चैहड़ की 75 पक्षियों की स्वस्थ व सक्षम आबादी स्थापित की जा सकी है, जिनमें वर्ष 2019 के दौरान पैदा हुए 10 नवजात पक्षी भी शामिल हंै।
हिमाचल प्रदेश में प्राथमिक सर्वे के आधार पर सेरी गांव के निकट स्थित क्षेत्र को र्निगमन के लिए सबसे उपयुक्त पाया गया है। इस क्षेत्र में रहने वाले प्राकृतिक पराभक्षियों के बारे में पता करने के लिए इस साईट में पराभक्षी अनुश्रवण व विश्लेषण किया गया। यह बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि कैप्टिव ब्रिडिंग वाले पक्षी पराभक्षियों को पहचानने व उनसे बचाव करने में सक्षम नहीं होते। इसलिए यह भी जरुरी है कि ऐसे क्षेत्र में जहां ये पक्षी छोडे़ जा रहे हैं पराभक्षी कम या लगभग न के बराबर हो, यह र्निगमन प्रक्रियौवजि तमसमंेम कहलाती है। इसमें पक्षियों को कुछ हफ्तों तक पुर्नस्थापन क्षेत्र में ही अस्थायी बाड़ों में रखा जाता है। यदि आवश्यकता हो तो उन्हें भोजन भी दिया जाता है जब तक वे उपलब्ध प्राकृतिक भोजन स्वयं से खाना शुरु न कर सके। संरक्षण प्रजनन में महारत हासिल होने के बाद अगला तार्किक कदम पक्षियों का जंगल में छोड़ा जाना था। जिसकी योजना आईयूसीएन के दल के अन्तर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ से विचार विमर्श के बाद बनाई गई है। यह योजना 4 अगस्त, 2018 को अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन) की अध्यक्षता में आयोजित हि.प्र. जू. कन्जर्वेशन व ब्रीडिंग सोसाइटी की 13वीं गर्वनिंग बोर्ड की बैठक में प्रस्तुत व अनुमोदित की गई।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali