Advertisements

बिटिया फाउंडेशन करेगी गरीब बच्चो की मदद

  • विनोद चड्ढा (Report)
  • Ankit Walia (Editor)

बिलासपुर जिला के बरमाणा की बिटिया फाउंडेशन संस्था आज इस युग में बढ़ रहे अपराधों को रोकने में एक अहम् रोल अदा कर रही है। संस्था पीड़ित लोगो की मदद के लिए एक फरिश्ते से कम नही है यह संस्था जहाँ सामाजिक क्षेत्र में नशा , घरेलू, हिंसा,मारपीट और कन्या भ्रूण हत्या की लड़ाई को खत्म करने को हमेशा ही तैयार रहती है वही संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष सीमा संख्यान ने बताया कि दिन प्रतिदिन हो रहे अपराधों को तभी जड़ से मिटाया जा सकता है जब सब लोग इसमे अपनी जिम्मेवारी को समझे। दिन प्रतिदिन न जाने कितनी बच्चियां दरिंदेपन का शिकार हो रही है और कितनी महिलाये घरेलू हिंसा का शिकार हो रही है। कितनी माँ से उनके बच्चे आज भी गर्भ में मार दिए जा रहे है ।

इन सब के पीछे कोन जिमेवार है?

सीमा सांख्यान ने बताया कि आज ऐसा ही एक केस
बिटिया फाउंडेशन कार्यालय में आया एक महिला चहलेली से अाई। उसके 3 बच्चे है दो बेटियां और एक बेटा। पति गाड़ी चलाता है पर कभी भी घर परिवार का खर्चा पति ने नहीं उठाया, ना ही बच्चो के पढ़ाई का कोई खर्च आज तक दिया।जिस कारण इस औरत को बेटियो की पढ़ाई रोकनी पड़ी। पीड़ित महिला को  बिटिया फाउंडेशन के बारे में पता चला तो एक आस बंधी की बच्चियों के भविष्य के बारे में कोई तो है जो मेरी मदद कर सकता हैं। महिला ने बिटिया फाउंडेशन संस्था से मदद की गुहार लगाई। तब जा कर बिटिया फाउंडेशन ने अब इन बच्चियों की पढ़ाई और ट्रेनिंग का खर्चा उठाने को तैयार हुई। बिटिया फाउंडेशन के राष्ट्रीय महासचिव हरीश धीमान जी ने कहा कि आज से बिटिया फाउंडेशन संस्था इन बच्चियों का सारा खर्चा उठाने को तैयार हैं। इसी तरह की 22 लड़कियों के पढ़ाई का खर्चा पहले से ही बिटिया फाउंडेशन संस्था उठा रही हैं। अभी तक संस्था ने बहुत सारी बच्चियों को गोद लिया है अब उसमें दो बेटियां और जुड़ गई बिटिया फाउंडेशन परिवार के लिए ये हर्ष का विषय है। इस के साथ साथ यह संस्था गरीब बच्चियों की शादी के लिए भी अपनी अहम भूमिका निभा रही है। इस मौके पर पिंकी शर्मा,कंचन चंदेल,प्रशन मिश्रा,बेबी,अनिल शर्मा आदि लोग मौजूद थे।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

Leave a Reply