Advertisements

“कौल सिंह ठाकुर द्वारा सैन्य कार्यवाई के सबूत माँगना बेहद शर्मनाक”- चन्दन पण्डित

  • ललित ठाकुर । पधर

भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान में चल रहे आतंकवादी संगठनों के ठिकानों पर हाल ही में की गई सैन्य कार्यवाही (एयर स्ट्राइक) के सबूत मांग कर कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री कौल सिंह द्वारा अपनी दोहरी व निकृष्ट राजनैतिक मानसिकता प्रदर्शित की गई है। पूर्व मंत्री व विधायक कौल सिंह द्वारा की गई टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारतीय जनता युवा मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य चंदन पंडित ने आज पधर से पत्रकारों को जारी एक वक्तव्य में कहा कि आज ऐसे राजनेता व उनके इस प्रकार के बयान बेहद शर्मनाक व निंदा के योग्य हैं ।

पूर्व विधायक व मंत्री कौल सिंह पर हमला बोलते हुए चंदन पंडित ने कहा कि द्रंग विधानसभा क्षेत्र की जनता ने 2017 के विधानसभा चुनावों में जो सर्जिकल स्ट्राइक कौल सिंह की विकासहीन राजनीति पर सबूतों के साथ की थी उसके जख़्म अभी भी हरे हैं । चंदन पंडित ने कहा कि कौल सिंह हिमाचल प्रदेश की राजनीति में ऐसे शक्स हैं जो लगातार दशकों तक सत्तारूढ़ रहने के बावजूद भी वर्तमान में अपना राजनैतिक वजूद तलाश रहे हैं । कुर्सी छिनने की छटपटाहट क्या होती है यह उनके राजनैतिक बयानों से जाहिर हो रहा है ।

House of Amigos

House of Amigos | For a great adventure in Manali !

वह देश व प्रदेश की भाजपा सरकार व उसकी विकासात्मक कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह उठाते हैं परंतु शायद वह अपनी आंखें जानबूझकर नहीं खोल रहे क्योंकि आज देश व प्रदेश की जनता ने इस बात पर मोहर लगा दी है कि जो विकास प्रक्रिया कांग्रेस के समय में बैलगाड़ी की गति से चल रही थी वह अब डबल-इंजन की गति से चल रही है । भाजपा के जिस विकास इंजन के हांफने की बात कौल सिंह करते हैं अब उन्हें यह समझ जाना चाहिए कि भाजपा के विकास का इंजन तो दुगनी गति पकड़ चुका है परंतु उनके अपने राजनैतिक करियर का इंजन अब हांफ चुका है । आलम यह है कि अब कौल सिंह अपनी जेब से पैसा खर्च कर द्रंग व साथ लगती दूसरी विधानसभा जोगिंदर नगर में नुक्कड़ सभाएं कर अपना स्वागत-सत्कार करवा रहे हैं ताकि जनता के मध्य अपने वजूद को जीवित रखा जा सके । परंतु अब उनकी यह कोशिश व्यर्थ है ।

प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर अपने द्रंग प्रवास के दौरान 127 करोड़ लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास कर चुके हैं, जिससे द्रंग के विकास को गति प्रदान हुई है ।स्थानीय जनता व विशेषकर कर्मचारी वर्ग को बदला व बदली की राजनीति से छुटकारा प्राप्त हुआ है ।परंतु यदि कौल सिंह फिर भी इच्छा रखते हैं तो उन्हें लोकसभा का आने वाला चुनाव लड़ कर देख लेना चाहिए ताकि उन्हें फिर से जनता की अगली सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत दिया जा सके ।

Hostel in Manali

House of Amigos, Top rated best boutique Youth Hostel in Manali

Leave a Reply